Namdapha National Park

Namdapha National Park Arunachal Pradesh : नमदाफा राष्ट्रीय उद्यान अरुणाचल प्रदेश

5/5 - (2 votes)

Namdapha National Park नमदाफा टाइगर रिजर्व को 1983 में के मुख्य क्षेत्र के रूप में और 245 वर्ग किमी के बफर क्षेत्र के साथ देश की 15वीं बाघ परियोजना के रूप में घोषित किया गया था। जिस कारण इसका कुल क्षेत्रफल 1985 वर्ग किलोमीटर है।

नमदाफा टाइगर रिजर्व का नाम नामदाफा एक नदी का नाम है जो वास्तव में दफाबूम से निकलती है (दफा अरुणाचल प्रदेश में स्थित एक पहाड़ी का नाम है,और यह पहाड़ी बहुत ऊँची हैं, जो नोआ-देहिंग नदी से मिलती है। नदी राष्ट्रीय उद्यान के उत्तर-दक्षिण दिशा से होकर बहती है जिस कारण नदी का नाम नामदाफा कर दिया गया है।

नमदाफा टाइगर रिजर्व का इतिहास

नमदाफा टाइगर रिजर्व का क्षेत्र प्रवासियों के लिए शरणार्थी लाभदायक साबित हुए भारत सरकार द्वारा सन 1960 के दशक में मियाओ जैसे कस्बे के बीच के क्षेत्रों में बसाया गया। नमदाफा का पश्चिमी किनारा दिलचस्प लगता हैं। बात यह है कि नामदाफा अभ्यारण्य यात्रा की सूची के दौरान ईटानगर आकर्षणों शीर्षक में से एक है।

नमदाफा वन आरक्षित क्षेत्र पहली बार अस्तित्व में आया और इसकी समृद्ध जैव विविधता के कारण द्वितीय विश्व युद्ध के दौरान इस पर अंतर्राष्ट्रीय महत्व के आधार पर ध्यान दिया गया। और वर्ष 1972 में नमदाफा को एक वन्यजीव अभ्यारण्य के रूप में स्थापित किया गया। इसके अलावा, 1983 में पार्क को टाइगर रिजर्व और राष्ट्रीय उद्यान घोषित किया गया था।

नमदाफा टाइगर रिजर्व की जलवायु

नमदाफा संरक्षित क्षेत्र भौगोलिक उपोष्णकटिबंधीय क्षेत्र में आता है और यहाँ की उपोष्णकटिबंधीय जलवायु का आनंद प्रदर्शित करता है। इस क्षेत्र की जलवायु 200 मीटर से 4571 मीटर तक की ऊँचाई में भिन्नता के कारण संरक्षित क्षेत्र में जगह-जगह जलवायु बदलती रहती है इस क्षेत्र में अधिक वर्षा भी होती है।

नमदाफा का पर्वतीय भाग की जलवायु को प्रभावी प्रकार की जलवायु के रूप में जाना जाता है, जबकि लोगों को यहाँ के निचले मैदानों और घाटियों में उष्णकटिबंधीय जलवायु का अनुभव होता रहता है, क्योंकि वो यहां पर जन्म से ही रहते हैं।

नमदाफा वन्यजीव अभयारण्य की वनस्पति

नमदाफा वन्यजीव अभयारण्य में विभिन्न प्रकार की वनस्पति पाए जाने वाले दुर्लभ पौधे और लुप्तप्राय प्रजातियां हैं। लियानस और अन्य पौधों के दुर्लभ जड़ परजीवी हैं। हिमालयन और बालनोफोरा एसपीपी के उत्तर-पूर्व में पाए जाते हैं।

यहाँ की कुछ ऐसी प्रजातियाँ हैं जो भारत में और कहीं नहीं पाई जाती हैं, जैसे पिनस मर्कुसी (सुमात्रन पाइन) और एबिस डेलावयी (डेलावे की प्राथमिकी) कई प्रकार की फ़र्न भी पाई जाती हैं, साइथेआ एसपी यहां की सबसे प्रमुख आदिम वृक्ष में से एक हैं।

नामदफा के आकर्षक पर्यटक

अरुणाचल प्रदेश में मियाओ नमक संग्रहालय नमदाफा पार्क के अधिकारियों द्वारा रक्षित मियाओ संग्रहालय क्षेत्र निदेशक कार्यालय के पास ही स्थित है। कई दशकों के अनुसार नमदाफा और यहाँ के आस – पास के अभ्यारणों से लाये गए जानवरों को स्थाई रूप से रखने के लिए एक कमरे का चुना गया है।

राष्ट्रीय उद्यान में कई प्रकार के सांप और मेंढक के नमूने के व बड़ी संख्या में स्तनपायी जीवों और खोपड़ी पक्षियों की खाल भी मौजूद हैं। दूसरा कमरा यहाँ के स्थानीय लोगों के कपड़ों और औजारों ग्रामीण जीवन की स्थिति को प्रदर्शित करता है। उद्यान सभी कार्य दिवसों पर भी खुला रहता है।

मियाओ के नमदाफा में मिनी चिड़ियाघर में पाए जाने वाले कई प्राइमेट्स चिड़ियाघर में स्थापित किए गए हैं, जैसे- असमिया मकाक, हूलॉक गिबन्स, स्टंप-टेल्ड मकाक, स्लो लोरिस और पिग-टेल्ड मकाक शामिल हैं। कुछ छोटे मांसाहारि वाले जिव भी यहाँ पर हैं, जिनमे साही और तेंदुए की बिल्लियाँ भी शामिल हैं और यहाँ के अन्य आकर्षणों स्थानों में काले भालू जेसे बड़े जानवर भी मौजूद है।

राजस्थान की राजा झील

यदि आप यहाँ पर घुमने के लिए आये हैं तो आप यहाँ की राजा झील में भी घुमने के लिए हा सकते हैं। यह रानी नमक झील के ठीक पहले हॉर्नबिल के मुख्य मार्ग से अलग होकर एक रास्ते से यहां तह पहुंचा जा सकता है। राजा झील बीच जंगल का एक दलदल है जो पूरी तरह से वनस्पति से ढाका है। रजा झील यहां मुख्य आकर्षण रास्ते में निवास और पक्षी जीवन है।

नमदाफा टाइगर रिजर्व की जानकारी

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *


The reCAPTCHA verification period has expired. Please reload the page.

error: Content is protected !!
Scroll to Top
Andaman Honeymoon Trip : अंडमान-निकोबार द्वीप के समुद्री तट Andaman Islands : घूमने का खास आनंद ले Andaman Vs Maldives : मालदीव से कितना सुंदर है अंडमान-निकोबार Andaman & Nicobar Travel Guide : पानी की लहरों का मजेदार सफ़र Andaman and Nicobar Islands Trip : मालदीव से भी ज्यादा खूबसूरत है अंडमान-निकोबार