Dibang Wildlife Sanctuary Arunachal Pradesh

5/5 - (1 vote)

Dibang Wildlife Sanctuary : अरुणाचल प्रदेश के लुभावने परिदृश्यों के बीच स्थित, दिबांग वन्यजीव अभयारण्य क्षेत्र की समृद्ध जैव विविधता के प्रमाण के रूप में खड़ा है। अनिनी जिले के पास स्थित, यह अभयारण्य प्रकृति प्रेमियों और वन्यजीव प्रेमियों के लिए एक स्वर्ग है।

मायावी मिशमी ताकिन, राजसी बाघ, चंचल लाल पांडा और सुंदर एशियाई काले भालू सहित विभिन्न प्रकार की प्रजातियों का घर, दिबांग वन्यजीव अभयारण्य प्राकृतिक दुनिया के आश्चर्यों की एक मनोरम झलक पेश करता है। स्क्लेटर्स मोनाल और ब्लिथ्स ट्रैगोपैन जैसी दुर्लभ पक्षी प्रजातियाँ आसमान की शोभा बढ़ाती हैं, जो अभयारण्य के आकर्षण को बढ़ाती हैं।

इसके अलावा, भाग्यशाली आगंतुक मायावी मिशमी हिल्स की विशाल उड़न गिलहरी को देख सकते हैं, जो एक अद्वितीय पारिस्थितिकी तंत्र के रूप में अभयारण्य की स्थिति का प्रमाण है। लगभग 5000 मीटर की ऊंचाई पर स्थित होने के कारण, दिबांग वन्यजीव अभयारण्य हिम तेंदुओं और क्लाउडेड तेंदुओं के लिए भी आवास प्रदान करता है, जिससे यह वन्यजीव प्रेमियों के लिए एक अवश्य देखने योग्य स्थान बन जाता है।

अभयारण्य का इलाका, नाटकीय पहाड़ों, बर्फ से ढकी चोटियों, घने जंगलों और चमचमाती नदियों की विशेषता, अन्वेषण के लिए एक आकर्षक पृष्ठभूमि बनाता है। इस सुरम्य सेटिंग के बीच, आगंतुक विभिन्न प्रकार की वनस्पतियों को देखकर आश्चर्यचकित हो सकते हैं, जिनमें रोडोडेंड्रोन निवल, सेडम, सैक्सिफ्रागा और बहुत कुछ शामिल हैं, जो अभयारण्य की विविध वनस्पति संपदा को प्रदर्शित करते हैं।

यात्रा की योजना बनाने वालों के लिए, पास के अनिनी जिले में आवास विकल्प प्रचुर मात्रा में हैं। आरामदायक सर्किट हाउस से लेकर आरामदायक पर्यटक लॉज और रिसॉर्ट तक, हर यात्री की जरूरतों और प्राथमिकताओं के अनुरूप कुछ न कुछ है।

दिबांग वन्यजीव अभयारण्य तक पहुंच अपेक्षाकृत सरल है, अनिनी इस प्राकृतिक वंडरलैंड के प्रवेश द्वार के रूप में कार्य करती है। नियमित बस और टैक्सी सेवाएं अनिनी को रोइंग से जोड़ती हैं, जो अभयारण्य तक सुविधाजनक पहुंच प्रदान करती हैं। वैकल्पिक रूप से, यात्री केवल 40 किलोमीटर दूर स्थित डिब्रूगढ़ हवाई अड्डे के लिए उड़ान भर सकते हैं, और वहां से अभयारण्य तक परिवहन की व्यवस्था कर सकते हैं।

रेल यात्रियों के लिए, तिनसुखिया रेलवे स्टेशन सीधी बस सेवाओं और टैक्सी विकल्पों के साथ अभयारण्य तक सुविधाजनक पहुँच प्रदान करता है।

दिबांग वन्यजीव अभयारण्य के वैभव का अनुभव करने का सबसे अच्छा समय नवंबर से फरवरी तक है जब मौसम ठंडा और सुखद होता है, तापमान 8 डिग्री सेल्सियस से 14 डिग्री सेल्सियस के बीच होता है। इस अवधि के दौरान, आगंतुक अभयारण्य की प्राकृतिक सुंदरता के बीच इष्टतम वन्यजीव दर्शन और अन्वेषण का आनंद ले सकते हैं।

संक्षेप में, दिबांग वन्यजीव अभयारण्य की यात्रा अरुणाचल प्रदेश के प्राचीन जंगल के केंद्र में एक अविस्मरणीय यात्रा का वादा करती है, जहां हर पल प्रकृति की भव्यता के जादू से भरा हुआ है।

अरुणाचल प्रदेश में 11 वन्यजीव अभ्यारण्य हैं:

  1. पक्के टाइगर रिजर्व अरुणाचल प्रदेश
  2. डेइंग एरिंग मेमोरियल वन्यजीव अभयारण्य अरुणाचल प्रदेश
  3. ईटानगर वन्यजीव अभयारण्य अरुणाचल प्रदेश
  4. मेहाओ वन्यजीव अभयारण्य अरुणाचल प्रदेश
  5. ईगलनेस्ट वन्यजीव अभयारण्य अरुणाचल प्रदेश
  6. सेसा आर्किड अभयारण्य अरुणाचल प्रदेश
  7. कमलांग वन्यजीव अभयारण्य अरुणाचल प्रदेश
  8. दिबांग वन्यजीव अभयारण्य अरुणाचल प्रदेश
  9. केन वन्यजीव अभयारण्य अरुणाचल प्रदेश
  10. टैली वैली वन्यजीव अभयारण्य अरुणाचल प्रदेश
  11. योर्डी राबे सुपसे वन्यजीव अभयारण्य अरुणाचल प्रदेश

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *


The reCAPTCHA verification period has expired. Please reload the page.

error: Content is protected !!
Scroll to Top
Andaman Honeymoon Trip : अंडमान-निकोबार द्वीप के समुद्री तट Andaman Islands : घूमने का खास आनंद ले Andaman Vs Maldives : मालदीव से कितना सुंदर है अंडमान-निकोबार Andaman & Nicobar Travel Guide : पानी की लहरों का मजेदार सफ़र Andaman and Nicobar Islands Trip : मालदीव से भी ज्यादा खूबसूरत है अंडमान-निकोबार