Dhuandhar Water Fall Jabalpur

धुंआधार जलप्रपात : Dhuandhar Falls Bhedaghat Jabalpur 2024

5/5 - (1 vote)

Dhuandhar Falls Bhedaghat Jabalpur : भारत के मध्य प्रदेश राज्य में स्थित जबलपुर शहर के एक प्रसिद्ध दर्शनीय एवं मनोरम स्थल जिसे धुआंधार या भेड़ाघाट के नाम से जाना जाता है। धुआँधार भेड़ाघाट, नर्मदा नदी के तट पर स्थित, जबलपुर जिले का सबसे लोकप्रिय पर्यटक आकर्षणों में से एक है, जो नर्मदा नदी के शानदार आश्चर्यजनक संगमरमर चट्टानों दृश्य के लिए प्रसिद्ध है। नर्मदा नदी का एक हिस्सा धुआंधार जलप्रपात इस जगह का मुख्य आकर्षण है। हरी-भरी पहाड़ियों और संगमरमर की चट्टानों की पृष्ठभूमि के साथ नदी का तेज़ पानी एक मंत्रमुग्ध कर देने वाला दृश्य बनाता है।

Table of Contents

धुंआधार जलप्रपात : Dhuandhar Falls Bhedaghat Jabalpur

लगभग 30 मीटर की ऊंचाई से गिरता हुआ झरना प्रकृति की शक्ति को प्रदर्शित करता है। संगमरमर की चट्टानों के बीच से गिरते पानी का दृश्य वास्तव में विस्मयकारी है और शांति का एहसास कराता है। धुआँधार का नाम दो हिंदी शब्दों से लिया गया है: “धुआं” जिसका अर्थ है धुआं और “धार” जिसका अर्थ है प्रवाह। यह नाम धुआंधार झरने पर होने वाली घटना का सटीक वर्णन करता है, जहां चट्टानों से टकराने वाले पानी के बल से एक महीन धुंध पैदा होती है जो बढ़ते धुएं के समान होती है।

यह जगह नाव की सवारी के लिए भी जानी जाती है जो पर्यटकों को जगह की राजसी सुंदरता का पता लगाने का अवसर देती है। यह स्थान अपने धार्मिक महत्व के लिए भी जाना जाता है और यहां कई मंदिर हैं, जैसे महाकाल मंदिर और श्री छत्री पहाड़ी मंदिर। यह जगह ट्रेकिंग, बर्ड वॉचिंग और कैंपिंग जैसी कई तरह की गतिविधियाँ भी प्रदान करती है।

Dhuandhar Bhedagat
Dhuandhar Bhedagat

नर्मदा नदी मधप्रदेश की जीवनदायनी नदी कहा जाता है। यहां पर लोग नर्मदा नदी को माता का दर्जा देते है और इनका पूजन करते है। क्योंकि यह पूरे मध्यप्रदेश वासियों के लिए जीवनदायनी है। नर्मदा नदी के पानी को नहरों के माध्यम से अलग अलग क्षेत्रों में वितरित किया जाता है। जिसका उपयोग लोग खेती करने और पीने के लिए करते है।इसलिए हम इन्हें पूज्यनीय कहते है।

धुआंधार भारत के जबलपुर शहर में भेड़ाघाट के पास स्थित एक झरना है। यह संगमरमर की चट्टानों पर बहने वाली नर्मदा नदी द्वारा बनाई गई है। धुआंधार नाम का अर्थ है “पानी का धुंआ” पानी की धुंध जैसी फुहार के कारण जो नदी संगमरमर की चट्टानों को नीचे गिराते हुए बनाती है। झरना एक लोकप्रिय पर्यटन स्थल बन गया है और विशेष रूप से इसकी प्राकृतिक सुंदरता के लिए जाना जाता है। धुआंधार के पास अन्य आकर्षणों में चौसठ योगिनी मंदिर, भगवान शिव की मूर्ति और पास के भेड़ाघाट गांव शामिल हैं।

नर्मदा नदी अपने उद्गम स्थल अमरकंटक (मध्य प्रदेश) से प्रवाहित होती हुई। बहुत से क्षेत्रों से बहती हुई निकलती है।
और बहुत से झरने(जल प्रपात) में भी परिवर्तित होती है।
इन्ही में से एक जलप्रपात धुंआधार भी है। जो मध्यप्रदेश के जबलपुर जिले में स्थित है।

प्रसिद्धि

जबलपुर शहर से लगभग 15km की दूरी पर स्थित भेड़ाघाट एक विशेष पत्थर संगमरमर पत्थर के लिए दुनिया भर में प्रसिद्ध है। जो अदभुत और अद्वतीय है।यह लोगो के आकर्षण का बहुत बड़ा केंद्र है। यह देश विदेश के लोगों को भी अपनी ओर आकर्षित करने के लिए विश्व प्रसिद्ध स्थल है।

इन संगमरमर की चट्टानों के बीच से गुजरती हुई। नर्मदा नदी भेड़ाघाट में करीब 25मीटर की ऊंचाई से नीचे की ओर झरने के रूप में गिरती है।जब यहां पर पानी नीचे की ओर गिरता है।तो यह पानी की बूंदे धुंए के जैसे उड़ती है।इस कारण से इसे धुंआधार जलप्रपात के नाम से भी जाना जाता है। यहां पर दूर दूर तक आपको संगमरमर की चट्टाने देखने को ही मिलेगी।

यहां इधर की सुंदरता देखने के लिए प्रतिदिन हजारों की संख्या में सैलानी आते है। रात के समय पर जब चांदनी रात होती है तब यह और भी खूबसूरत लगता है। इसे हम एक चमत्कार से कम नही कह सकते। इन वादियों के स्वर्ग जैसे प्रतीत होता है। इधर की सुंदरता को वर्णों में व्यक्त नहीं कर सकते। यहाँ पर संगमरमर के पत्थरों को पास से देखने पर ऐसा प्रतीत होता है मानो पर्वत की चोटी पर बर्फ की चादर पड़ी हो।

जीवंत संस्कृति और उत्सव पर्व (त्यौहार)

धुआंधार भेड़ाघाट एक समृद्ध सांस्कृतिक विरासत का दावा करता है। स्थानीय लोग अपनी परंपराओं पर बहुत गर्व करते हैं और विभिन्न त्योहारों को बड़े उत्साह और उत्साह के साथ मनाते हैं। जीवंत त्योहारों को देखने से यात्रियों को सांस्कृतिक रूप से विविध क्षेत्र के दिल में एक झलक मिलती है।

भेड़ाघाट/ धुंआधार में हर समय उत्सव जैसा ही माहौल बना होता है लेकिन कुछ खास त्योहार या समय पर यहां पर उत्सव मनाए जाते है। जैसे नर्मदा प्रकटोत्सव ओर पूर्णिमा के समय। इस समय पर यहां पर अन्य समय की अपेक्षा अधिक भीड़ होती है। इसके साथ साथ यहां आस पास के लोग गकड़ भर्ता बनाकर खाने आते है।

धुआँधार भेड़ाघाट कैसे पहुँचें?

धुआंधार भेड़ाघाट सड़क, रेल और हवाई मार्ग से अच्छी तरह से जुड़ा हुआ है। निकटतम हवाई अड्डा जबलपुर हवाई अड्डा है, जो लगभग 25 किलोमीटर दूर स्थित है। जबलपुर रेलवे स्टेशन निकटतम प्रमुख रेलवे स्टेशन है, जो पूरे भारत के कई शहरों से जुड़ा हुआ है। पर्यटक सड़क मार्ग से भी गंतव्य तक पहुँच सकते हैं, क्योंकि आस-पास के शहरों से नियमित बस सेवाएँ उपलब्ध हैं।

कब और कैसे जाएं

यदि आप भेड़ाघाट जाना चाहते है तो आप बरसात का समय छोड़ अन्य समय पर ही जाय। क्योंकि बरसात के समय पर यहां पर पानी का लेवल एक सा होता है जो बाढ़ जैसे हालात बनाता है इसलिए आप यहां आने के लिए अन्य समय निर्धारित करें।

यदि आप भेड़ाघाट आना चाहते है तो आप अक्टूबर माह से लेकर मई माह तक किसी भी समय आ सकते हैं।
यहां आने के लिए आप अपने वाहन , रेल यात्रा या हवाई यात्रा करके भी यहां पर पहुंच सकते है।

यदि आप यहां खुद के वाहन से आना चाहते है तो आप यहां आसानी से पहुंच सकते है क्योंकि जबलपुर से हाईवे एनएच7 होकर गुजरता है जो बड़े शहरों जैसे मुंबई को जोड़ता है।और धुंआधार तक पहुंचने के लिए मुख्य हाईवे से लगभग आपको 12km अंदर की ओर जाना पड़ता हैं।

पार्किंग

यहां पर पार्किंग की सुविधा उपलब्ध है।जिसका आपको आपके वाहन के अनुसार चार्ज पे करना पड़ता है।

  • यदि आप रेल यात्रा करके धुंआधार पहुंचना चाहते है तो यह भी संभव है। यहां पर मध्य पश्चिम रेल का परिवहन होता है। यदि आप रेल की यात्रा करके आते है तो आप जबलपुर के मुख्य रेलवे स्टेशन या मदन महल रेलवे स्टेशन में उतर सकते है फिर आप वहां से ऑटो बुक करके धुंआधार जलप्रपात घूमने जा सकते है।
  • इसके अलावा आप हवाई यात्रा करके जबलपुर आ सकते है।इसके लिए आपको जबलपुर के डूमना एयरपोर्ट आना पड़ेगा । फिर आपको वहा से आसानी से ऑटो मिल जाते है। जिससे आप यहां आ सकते है।
  • आप डूमना एयरपोर्ट से आते समय डूमना नेचर पार्क जरुर घूमते हुए आएं।
क्रमांकमार्गदूरी
1एयरपोर्ट से दूरी20km
2रेलवे स्टेशन से दूरी21km
3मुख्य हाईवे से दूरी10km
धुआंधार पहुंचने के मार्ग

खाने और रुकने की व्यवस्था(Hotal & Resort)

यदि आप यहां दूर से यात्रा करके आते है और आप यहां रुककर जबलपुर के पर्यटन स्थानों में घूमना चाहते है तो
आपको यहां पर आसानी से रिसॉर्ट और होटल आपके अनुसार मिल जाते है। और खाने पीने के लिए भी आपको यहां पर सुविधाएं उपलब्ध है।

Murti Bhedagat
Murti Bhedagat

आसपास के अन्य पर्यटन स्थल

यदि आप धुंआधार घूमने के लिए आते है तो आपको इन अन्य क्षेत्रों में भी घूमना चाहिए।

  • 64 योगिनी चौसठ : इतिहास और वास्तुकला में रुचि रखने वालों के लिए, चौसठ योगिनी मंदिर की यात्रा अवश्य करनी चाहिए। 10वीं शताब्दी का यह प्राचीन मंदिर भारतीय वास्तुकला का एक बेहतरीन उदाहरण है और देवी दुर्गा के 64 अवतारों को समर्पित है।
  • पंचवटी
  • नौका विहार
  • मार्वल रॉक
  • त्रिपुर सुंदरी
  • बगलामुखी

लेखक के विचार (Author Opinion)

मेरा नाम आकाश सिंह है. चूँकि मैं मध्यप्रदेश के जबलपुर जिले से ताल्लुक रखता हूँ तो अक्सर मैं अपने मित्रों के साथ भेडाघाट घूमने के लिए आता हूँ. यहाँ आकर मुझे बहुत ही अच्छा महसूस होता है. जब संगमरमर के पत्थरों के बीच से होकर नर्मदा नदी गुजरती है तो यह नज़ारा देखने में बहुत ही शानदार होता है. जो मन को हर्षित करता है. यंहा पर हजारो की संख्या में पर्यटक आते है.

Dhuandhar Jabalpur
Dhuandhar Jabalpur

भेड़ाघाट में नौका विहार

भेड़ाघाट की अलौकिक सुंदरता को पूरी तरह से देखने के लिए, आपको नर्मदा नदी पर नाव की सवारी करनी चाहिए। नौकायन का अनुभव आगंतुकों को अद्भुत संगमरमर की चट्टानों के करीब जाने और सुरम्य परिदृश्य को पकड़ने की अनुमति देता है। सूर्यास्त के दौरान नाव की सवारी विशेष रूप से मनमोहक होती है जब चट्टानें फीकी रोशनी के साथ रंग बदलती हैं।

Noka Vihar Bhedaghat Jabalpur
Noka Vihar Bhedaghat Jabalpur

मनमोहक चांदनी दृश्य

चांदनी रात में भेड़ाघाट एक जादुई दुनिया में बदल जाता है। चंद्रमा को नर्मदा नदी पर प्रतिबिंबित करते हुए और संगमरमर की चट्टानों को रोशन करते हुए देखना एक मनमोहक अनुभव है। चांदनी का दृश्य शांति का माहौल बनाता है, जिससे यह नदी के किनारे शांतिपूर्ण सैर के लिए एक आदर्श समय बन जाता है।

संगमरमर की चट्टानें: प्रकृति की कलात्मकता

भेड़ाघाट में संगमरमर की चट्टानें एक भूवैज्ञानिक आश्चर्य हैं। सदियों से नर्मदा नदी द्वारा उकेरी गई चट्टानें विभिन्न रंगों और पैटर्न को प्रदर्शित करती हैं, जो प्रकृति की कलात्मकता का एक कैनवास बनाती हैं। कई आगंतुक खुद को इन जटिल पैटर्न और बनावट के आकर्षण में खोया हुआ पाते हैं।

Marble Rocks Bhedaghat Jabalpur
Marble Rocks Bhedaghat Jabalpur

साहसिक गतिविधियाँ

रोमांच के शौकीनों के लिए धुआंधार भेड़ाघाट रोमांचक अवसर प्रदान करता है। रॉक क्लाइम्बिंग और ट्रैकिंग लोकप्रिय गतिविधियाँ हैं जो आगंतुकों को झरने के आसपास के ऊबड़-खाबड़ इलाकों का पता लगाने की अनुमति देती हैं। ये रोमांच रोमांचकारी उत्साह और प्रकृति से निकटता से जुड़ने का अवसर प्रदान करते हैं।

स्वादिष्ट स्थानीय व्यंजन

धुआंधार भेड़ाघाट की खोज स्थानीय व्यंजनों का स्वाद लिए बिना अधूरी है। यह क्षेत्र विभिन्न प्रकार के मुंह में पानी ला देने वाले व्यंजन पेश करता है जो स्वाद कलियों के लिए एक वरदान हैं। पारंपरिक जनजातीय व्यंजनों से लेकर लजीज स्ट्रीट फूड तक, यहां का भोजन दृश्य हर स्वाद को पसंद आता है।

यात्रियों के लिए युक्तियाँ

चलने और घूमने के लिए उपयुक्त आरामदायक कपड़े और जूते पहनें।
खुद को धूप से बचाने के लिए सनस्क्रीन, टोपी और धूप का चश्मा साथ रखें।
हाइड्रेटेड रहें और अपने साथ पानी की बोतल रखें।
अपनी यात्रा के दौरान स्थानीय रीति-रिवाजों और परंपराओं का सम्मान करें।
स्थान के इतिहास और महत्व के बारे में अधिक जानने के लिए एक स्थानीय गाइड को नियुक्त करें।
घूमने का सबसे अच्छा समय
धुआंधार भेड़ाघाट की यात्रा का सबसे अच्छा समय अक्टूबर से मार्च तक सर्दियों के महीनों के दौरान होता है, जब मौसम सुखद होता है और दर्शनीय स्थलों की यात्रा के लिए आदर्श होता है। मानसून के मौसम में यात्रा करने से बचें, क्योंकि भारी बारिश यात्रा योजनाओं को बाधित कर सकती है।

जबलपुर में धुआंधार भेड़ाघाट एक छिपा हुआ रत्न है जो प्राकृतिक सुंदरता, रोमांच और सांस्कृतिक अनुभवों का एक आदर्श मिश्रण प्रदान करता है। राजसी धुआंधार झरना और मंत्रमुग्ध कर देने वाली संगमरमर की चट्टानें एक सुरम्य परिदृश्य बनाती हैं जो आगंतुकों को मंत्रमुग्ध कर देती हैं। इस मनमोहक गंतव्य की खोज करना किसी अन्य से अलग अनुभव है, जो प्रकृति की गोद में आराम चाहने वाले हर यात्री के लिए इसे अवश्य देखने लायक स्थान बनाता है।

पूछे जाने वाले प्रश्न

क्या धुआंधार भेड़ाघाट पारिवारिक छुट्टियों के लिए उपयुक्त है?

हां, धुआंधार भेड़ाघाट अपने शांत वातावरण और सभी आयु समूहों के लिए विभिन्न गतिविधियों के साथ पारिवारिक छुट्टियों के लिए एक उत्कृष्ट स्थान है।

क्या धुआंधार भेड़ाघाट के पास कोई आवास उपलब्ध है?

हां, अलग-अलग बजट को पूरा करने के लिए धुआंधार भेड़ाघाट में और उसके आसपास कई होटल, रिसॉर्ट और गेस्टहाउस उपलब्ध हैं।

क्या पर्यटक झरने के पास नर्मदा नदी में तैर सकते हैं?

नहीं, तेज धारा और सुरक्षा कारणों से झरने के पास नर्मदा नदी में तैरना सख्त वर्जित है।

क्या साहसिक गतिविधियाँ शुरुआती लोगों के लिए उपयुक्त हैं?

हाँ, धुआँधार भेड़ाघाट में साहसिक गतिविधियाँ शुरुआती और अनुभवी साहसी दोनों के लिए डिज़ाइन की गई हैं।

क्या भेड़ाघाट में फोटोग्राफी की अनुमति है?

हां, फोटोग्राफी की अनुमति है, और भेड़ाघाट की सुंदरता को कैद करने को अत्यधिक प्रोत्साहित किया जाता है।

error: Content is protected !!
Scroll to Top
Andaman Honeymoon Trip : अंडमान-निकोबार द्वीप के समुद्री तट Andaman Islands : घूमने का खास आनंद ले Andaman Vs Maldives : मालदीव से कितना सुंदर है अंडमान-निकोबार Andaman & Nicobar Travel Guide : पानी की लहरों का मजेदार सफ़र Andaman and Nicobar Islands Trip : मालदीव से भी ज्यादा खूबसूरत है अंडमान-निकोबार