List of Wildlife Sanctuaries in Jharkhand

5/5 - (1 vote)

यदि आप एक उत्साही प्रकृति प्रेमी और वन्यजीव उत्साही हैं, तो झारखंड में बहुत कुछ है। पूर्वी भारत के मध्य में स्थित, यह राज्य विविध प्रकार की वनस्पतियों और जीवों का घर है, जिनमें से अधिकांश क्षेत्र में फैले कई वन्यजीव अभयारण्यों में अपनी शरण पाते हैं। इस लेख में, हम आपको झारखंड के कुछ सबसे मनोरम और जैव विविधता वाले वन्यजीव अभयारण्यों के आभासी दौरे पर ले जाएंगे।

  1. परिचय: झारखंड का प्रचुर जंगल
    अपनी समृद्ध सांस्कृतिक विरासत के लिए जाना जाने वाला झारखंड प्राकृतिक आश्चर्यों का खजाना भी है। राज्य में वन्यजीव अभयारण्यों की एक श्रृंखला है जो जानवरों, पक्षियों और पौधों की विभिन्न प्रजातियों के लिए स्वर्ग के रूप में काम करते हैं। ये अभयारण्य न केवल जैव विविधता के संरक्षण में योगदान देते हैं बल्कि पर्यावरण-पर्यटन का अवसर भी प्रदान करते हैं।
  2. बेतला राष्ट्रीय उद्यान: जहां प्रकृति की सुंदरता की कोई सीमा नहीं है
    छोटा नागपुर पठार के बीच स्थित, बेतला राष्ट्रीय उद्यान क्षेत्र की पारिस्थितिक विविधता के प्रमाण के रूप में खड़ा है। अपने हरे-भरे जंगलों, बहती नदियों और बाघों, हाथियों और स्लॉथ भालू सहित विविध वन्य जीवन के साथ, यह पार्क एक मनमोहक जंगल अनुभव का वादा करता है।
  3. पलामू टाइगर रिजर्व: संरक्षण के लिए दहाड़
    राजसी रॉयल बंगाल टाइगर का घर, पलामू टाइगर रिजर्व झारखंड के वन्यजीव मुकुट में एक सच्चा रत्न है। रिज़र्व का लहरदार इलाका और घने पर्णपाती जंगल इन प्रतिष्ठित बड़ी बिल्लियों के लिए एक सुरक्षित आश्रय प्रदान करते हैं।
  4. दलमा वन्यजीव अभयारण्य: जहां शांति जंगल से मिलती है
    जमशेदपुर शहर के नजदीक, दलमा वन्यजीव अभयारण्य प्रकृति की गोद में एक शांत विश्राम प्रदान करता है। इसके सुरम्य परिदृश्य में कई प्रकार की प्रजातियाँ निवास करती हैं, जिनमें भौंकने वाले हिरण, तेंदुए और विभिन्न पक्षी प्रजातियाँ शामिल हैं।
  5. हज़ारीबाग़ वन्यजीव अभयारण्य: बड़े और छोटे के लिए स्वर्ग
    हज़ारीबाग़ वन्यजीव अभयारण्य, अपनी घुमावदार पहाड़ियों और घनी वनस्पतियों के साथ, हाथियों और तेंदुओं से लेकर साही और लंगूरों तक विविध प्रकार के वन्यजीवों को आश्रय देता है। अभयारण्य की प्राचीन सुंदरता इसे प्रकृति प्रेमियों के लिए एक लोकप्रिय गंतव्य बनाती है।
  6. गौतम बुद्ध वन्यजीव अभयारण्य: हरियाली के बीच शांति
    आध्यात्मिक प्रकाशमान गौतम बुद्ध के नाम पर रखा गया यह अभयारण्य वन्यजीवों और मनुष्यों दोनों के लिए एक शांत विश्राम स्थल प्रदान करता है। पहाड़ी इलाकों में फैले इस स्थान में हाथी, तेंदुए और स्लॉथ भालू जैसी प्रजातियाँ रहती हैं।
  7. लावालॉन्ग वन्यजीव अभयारण्य: स्वदेशी वनस्पतियों और जीवों का संरक्षण
    लॉवालॉन्ग वन्यजीव अभयारण्य झारखंड की स्वदेशी जैव विविधता के संरक्षक के रूप में खड़ा है। इसके विविध परिदृश्य विभिन्न प्रकार की प्रजातियों को आश्रय प्रदान करते हैं, जिनमें सरीसृप, स्तनधारी और पक्षी चमत्कार शामिल हैं।
  8. उसरी फॉल्स वन्यजीव अभयारण्य: जहां झरने और जीव मिलते हैं
    उसरी फॉल्स वन्यजीव अभयारण्य प्राकृतिक सुंदरता और वन्यजीव संरक्षण का एक अनूठा मिश्रण है। अभयारण्य का केंद्रबिंदु, उसरी झरना, आकर्षण को बढ़ाता है जबकि आसपास के जंगल विभिन्न प्रजातियों का घर हैं।
  9. सारंडा वन्यजीव अभयारण्य: प्रकृति के लचीलेपन का अनावरण
    सारंडा के जंगल प्रकृति के लचीलेपन और पुनर्जीवन का प्रतीक हैं। चुनौतियों का सामना करने के बावजूद, अभयारण्य बाघों, हाथियों और हिरणों की कई प्रजातियों का घर है, जो जीवन और परिदृश्य के बीच सामंजस्य को दर्शाता है।
  10. तोपचांची वन्यजीव अभयारण्य: आवासों की एक पच्चीकारी
    तोपचांची वन्यजीव अभयारण्य के विविध पारिस्थितिकी तंत्र, जिनमें जंगल, घास के मैदान और आर्द्रभूमि शामिल हैं, विभिन्न प्रकार की प्रजातियों के लिए आश्रय स्थल बनाते हैं। यह अभयारण्य पक्षी प्रेमियों और प्रकृति फोटोग्राफरों के लिए एक आकर्षण का केंद्र है।
  11. कोडरमा वन्यजीव अभयारण्य: जहां जंगल पनपता है
    कोडरमा वन्यजीव अभयारण्य जंगल के आश्चर्यों का प्रमाण है। इसकी गुफाएँ, झरने और घनी वनस्पतियाँ जानवरों की विभिन्न प्रजातियों के लिए उपयुक्त आवास प्रदान करती हैं, जो इसे जैव विविधता का हॉटस्पॉट बनाती हैं।
  12. सिंहभूम हाथी रिजर्व: कोमल दिग्गजों और हरी-भरी घाटियों का
    पशु साम्राज्य के सौम्य दिग्गजों का घर, सिंहभूम हाथी रिजर्व इन शानदार प्राणियों के जीवन की एक झलक प्रदान करता है। रिज़र्व के सुरम्य परिदृश्य असंख्य अन्य वन्यजीवों के साथ साझा किए जाते हैं।
  13. उधवा झील पक्षी अभयारण्य: एवियन कोरस की सिम्फनी
    पक्षी प्रेमियों के लिए, उधवा झील पक्षी अभयारण्य एक ऐसा स्वर्ग है जिसका अन्वेषण किया जा रहा है। शांत झील और आसपास की आर्द्रभूमियाँ कई निवासी और प्रवासी पक्षी प्रजातियों के लिए आवास प्रदान करती हैं।
  14. गांडेय वन्यजीव अभयारण्य: अनदेखी की खोज
    गांडेय वन्यजीव अभयारण्य का रहस्यमय आकर्षण इसके अज्ञात क्षेत्रों में निहित है। इसके घने जंगल और ऊबड़-खाबड़ इलाका वन्य जीवन की एक विस्तृत श्रृंखला के लिए आश्रय प्रदान करता है, जिससे यह साहसिक चाहने वालों के लिए स्वर्ग बन जाता है।
  15. निष्कर्ष: झारखंड की प्राकृतिक विरासत की एक झलक
    झारखंड के वन्यजीव अभयारण्य जैव विविधता संरक्षण के प्रति राज्य की प्रतिबद्धता का प्रमाण हैं। प्रकृति के ये आश्रय न केवल विभिन्न प्रजातियों की रक्षा और संरक्षण करते हैं बल्कि लोगों को जंगल से जुड़ने का मौका भी देते हैं। जैसे ही आप इन अभयारण्यों का पता लगाएंगे, आप प्रकृति के जादू को उसके शुद्धतम रूप में पाएंगे।

पूछे जाने वाले प्रश्न
क्या ये वन्यजीव अभयारण्य साल भर जनता के लिए खुले हैं?

हाँ, इनमें से अधिकांश अभयारण्य पूरे वर्ष आगंतुकों के लिए खुले रहते हैं। हालाँकि, यह सलाह दी जाती है कि अपनी यात्रा की योजना बनाने से पहले किसी मौसमी बंदी या विशेष दिशानिर्देशों की जाँच कर लें।
क्या मैं इन अभयारण्यों में बाघ देख सकता हूँ?

हाँ, कुछ अभयारण्य, जैसे पलामू टाइगर रिज़र्व और बेतला नेशनल पार्क, अपनी बाघ आबादी के लिए जाने जाते हैं। हालाँकि देखे जाने की गारंटी नहीं है, सुबह और शाम के दौरान आपकी संभावनाएँ बढ़ जाती हैं।
क्या इन अभयारण्यों के पास आवास विकल्प हैं?

इनमें से कई अभयारण्यों में वन विश्राम गृह या आगंतुकों के लिए पास में आवास हैं। अग्रिम आरक्षण कराने की सिफ़ारिश की जाती है, ख़ासकर व्यस्त पर्यटन सीज़न के दौरान।
पक्षी देखने के लिए जाने का सबसे अच्छा समय क्या है?

सर्दियों के महीने, नवंबर से फरवरी तक, पक्षियों को देखने के लिए आदर्श होते हैं क्योंकि इस दौरान कई प्रवासी पक्षी प्रजातियाँ अभयारण्यों में आती हैं।
क्या निर्देशित सफ़ारी उपलब्ध हैं?

हाँ, इनमें से अधिकांश अभयारण्य अनुभवी प्रकृतिवादियों के नेतृत्व में निर्देशित जीप सफारी या पैदल यात्रा की पेशकश करते हैं, जिससे वन्यजीवों को देखने की संभावना बढ़ जाती है और पारिस्थितिकी तंत्र में मूल्यवान अंतर्दृष्टि प्रदान होती है।

  1. Dalma Wildlife Sanctuary Jharkhand
  2. Hazaribag Wildlife Sanctuary Jharkhand
  3. Gautam Budha Wildlife Sanctuary Jharkhand
  4. Koderma Wildlife Sanctuary Jharkhand
  5. Lawalong Wildlife sanctuary Jharkhand
  6. Mahauadanr Wildlife Sanctuary Jharkhand
  7. Palamau Tiger Reserve Jharkhand
  8. Palkot Wildlife Sanctuary Jharkhand
  9. Parasnath Wildlife Sanctuary Jharkhand
  10. Topchanchi Wildlife Sanctuary Jharkhand
  11. Udhwa Lake Wildlife Sanctuary Jharkhand

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *


The reCAPTCHA verification period has expired. Please reload the page.

error: Content is protected !!
Scroll to Top
Andaman Honeymoon Trip : अंडमान-निकोबार द्वीप के समुद्री तट Andaman Islands : घूमने का खास आनंद ले Andaman Vs Maldives : मालदीव से कितना सुंदर है अंडमान-निकोबार Andaman & Nicobar Travel Guide : पानी की लहरों का मजेदार सफ़र Andaman and Nicobar Islands Trip : मालदीव से भी ज्यादा खूबसूरत है अंडमान-निकोबार