Basudha Water fall

2024 की छुट्टियों पर कटनी में घूमने के लिए शीर्ष 11 पर्यटन स्थल (Tourist Places in Katni)

4.5/5 - (2 votes)

Tourist Places in Katni : अनोखा शहर कटनी मध्यप्रदेश राज्य का एक छोटा सा जिला है, जो जबलपुर संभाग के अंतर्गत आता है। कटनी जिले में अनेक पर्यटन स्थल (Katni Turist Place) मौजूद है, यहाँ पर पर्यटकों के घुमने के लिए धार्मिक और ऐतिहासिक स्थल आकर्षण के प्रमुख केंद्र है। पर्यटन की द्रष्टि से लोग यहाँ पर आते है साथ ही लोग कटनी को मुडवारा के नाम से भी जानते है। यह कटनी नदी के तट पर स्थित है और एक महत्वपूर्ण रेलवे जंक्शन है। यह जबलपुर से लगभग 75 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। कटनी जबलपुर और आसपास के अन्य शहरों जैसे मैहर, रीवा, सतना और सीधी से सड़क और रेल द्वारा अच्छी तरह से जुड़ा हुआ है।

Table of Contents

कटनी में घूमने के लिए जगह (Tourist Places in Katni)

कटनी में बहुत सारे धार्मिक और ऐतिहासिक जगह है। जो लोगो को अपनी और आकर्षित करते है, जिन्हें देखने के लिए दूर दूर से पर्यटक इन जगह पर आते है। इस लेख में आपको कटनी में उपस्थित सारे पर्यटन स्थलों (Katni Turist Place) के बारे में पता चलेगा ।

Famous Temple in Katni

कटनी अपनी समृद्ध सांस्कृतिक विरासत और ऐतिहासिक महत्व हिन्दू मंदिर के लिए प्रसिद्ध है। कई आकर्षणों के बीच, जो दूर-दूर से पर्यटकों को आकर्षित करते हैं, कटनी के प्रसिद्ध मंदिर इस क्षेत्र की आध्यात्मिक प्रमुखता के प्रमाण के रूप में खड़े हैं।

भव्य विष्णु मंदिर

कटनी में विष्णु मंदिर, जिसे बड़े मंदिर के नाम से भी जाना जाता है, ब्रह्मांड के संरक्षक भगवान विष्णु को समर्पित एक भव्य संरचना है। जटिल नक्काशी से सजे इसके ऊंचे शिखर, आगंतुकों को मंत्रमुग्ध कर देते हैं क्योंकि वे दिव्य शांति के दायरे में कदम रखते हैं। मंदिर के आंतरिक गर्भगृह में भगवान विष्णु की विस्मयकारी मूर्ति है, जो सांत्वना और आशीर्वाद चाहने वाले भक्तों को आकर्षित करती है।

शांत महाकाली मंदिर

कटनी की एक पहाड़ी के ऊपर स्थित, महाकाली मंदिर शक्ति और शक्ति का प्रतीक है, जो देवी काली, देवी दुर्गा के उग्र रूप को समर्पित है। दुर्जेय देवता का आशीर्वाद लेने के लिए भक्तों को कठिन चढ़ाई का सामना करना पड़ता है। मंदिर की वास्तुकला प्राकृतिक परिवेश के साथ सामंजस्यपूर्ण रूप से मिश्रित है, जो शहर और नीचे नर्मदा नदी के मनमोहक दृश्य प्रस्तुत करती है।

महाकाली मंदिर की कथा

महाकाली मंदिर की उत्पत्ति के साथ एक दिलचस्प किंवदंती जुड़ी हुई है। स्थानीय लोककथाओं के अनुसार, मंदिर की स्थापना सदियों पहले एक ऋषि ने की थी, जिन्होंने सपने में देवी काली को इस पवित्र स्थान पर मार्गदर्शन करते हुए देखा था। ऋषि ने दैवीय निर्देशों का पालन किया और मंदिर का निर्माण किया गया, जो अपार भक्ति और श्रद्धा का स्थल बन गया।

प्राचीन शिव मंदिर

शिव मंदिर, एक प्राचीन चमत्कार, बीते युग की शिल्प कौशल के प्रमाण के रूप में खड़ा है। भगवान शिव को समर्पित, मंदिर की उत्कृष्ट वास्तुकला इतिहास प्रेमियों और आध्यात्मिक जिज्ञासुओं को समान रूप से आकर्षित करती है। मंदिर प्रांगण का शांत वातावरण आगंतुकों को ध्यान करने और परमात्मा से जुड़ने के लिए आमंत्रित करता है।

रहस्यमय लिंगम

शिव मंदिर के मध्य में एक अनोखा लिंगम स्थित है, जो भगवान शिव का पवित्र प्रतीक है। ऐसा कहा जाता है कि रहस्यमय लिंगम प्राकृतिक रूप से उभरा है, और इसकी उपस्थिति मंदिर के रहस्यमय आकर्षण को बढ़ाती है। भक्त यहां प्रार्थना करने और भगवान शिव से स्वास्थ्य, सुख और समृद्धि का आशीर्वाद लेने के लिए आते हैं।

आकर्षक माँ दुर्गा मंदिर

शक्ति और परोपकार की देवी को समर्पित माँ दुर्गा मंदिर, कृपा और आकर्षण की आभा बिखेरता है। मंदिर की वास्तुकला में विभिन्न रूपों में देवी दुर्गा की जटिल मूर्तियां प्रदर्शित हैं, जो उनकी वीरता और करुणा की कहानियां सुनाती हैं। यह उन भक्तों के लिए स्वर्ग है जो दिव्य माँ की उपस्थिति में सांत्वना और शक्ति पाते हैं।

मनाया जाने वाला नवरात्रि महोत्सव

माँ दुर्गा मंदिर शुभ नवरात्रि उत्सव के दौरान उत्सव का केंद्र बिंदु बन जाता है। नौ दिनों के जीवंत उत्सव, भक्ति गीत और रंगारंग अनुष्ठान इस खुशी के अवसर को चिह्नित करते हैं। निकट और दूर-दूर से आने वाले तीर्थयात्री और पर्यटक मौज-मस्ती में हिस्सा लेते हैं, जिससे माहौल खुशी और आध्यात्मिक उत्साह से भरपूर हो जाता है।

रहस्यमय हनुमान मंदिर

पूज्य वानर देवता, भगवान हनुमान को समर्पित हनुमान मंदिर, भक्तों के दिलों में एक महत्वपूर्ण स्थान रखता है। मंदिर की दिव्य आभा हनुमान चालीसा के निरंतर जाप से बढ़ जाती है, जो भगवान हनुमान की स्तुति को समर्पित एक भजन है।

चमत्कारी तैरते पत्थर

किंवदंती है कि हनुमान मंदिर में ऐसे पत्थर हैं जो हनुमान चालीसा के कुछ छंदों का पाठ करने पर तैरते हैं। इस रहस्यमय घटना ने पीढ़ियों से आगंतुकों और भक्तों को आकर्षित किया है, जिससे आध्यात्मिक यात्रा में आश्चर्य का तत्व जुड़ गया है।

कटनी जिला अपने प्रसिद्ध मंदिरों के साथ, एक आध्यात्मिक तीर्थयात्रा प्रदान करता है जो समय की सीमाओं से परे है। इन मंदिरों का समृद्ध इतिहास, वास्तुशिल्प प्रतिभा और दिव्य ऊर्जा एक ऐसा अनुभव प्रदान करती है जो आने वालों के दिलों पर एक अमिट छाप छोड़ती है। चाहे सांत्वना, शक्ति, या केवल अन्वेषण का आनंद तलाश रहे हों, कटनी के मंदिर प्रकाश की किरण के रूप में खड़े हैं, जो परमात्मा की तलाश करने वाले सभी लोगों का मार्गदर्शन करते हैं।

तिगमा मंदिर (Tourist Places in Katni)

Tigwa kankali Devi Mandir Bahoriband Katni
Tigma kankali Devi Mandir Bahoriband Katni

तिगमा मंदिर कटनी जिले के अंदर उपस्थित एक अति प्राचीन मंदिर है। यह मंदिर बहोरिबंद से 1 किलोमीटर की दुरी पर बना हुआ है। यह मंदिर एक बड़े परिसर पर बना हुआ है। इस परिसर में माता कलिका का मंदिर बना हुआ है। इस मंदिर को पुरातत्व विभाग ने अपने संरक्षण में लिया है। और पढ़ें…

विजय राघव गढ़ का किला कटनी (Tourist Places in Katni)

इस किले का निर्माण 1826 शुरू हुआ। इस किले के 2 ओर नदियाँ और एक और विशाल पहाड़ी से घिरा हुआ है। जिस कारण से यह बहुत ही सुरक्षित है। इस किले की नक्काशिया और दीवारों पर अलंकृत कलाकृतियाँ इस किले को बहुत ही आकर्षित बनाती हैं। और पढ़ें…

रूपनाथ धाम बहोरिबंद कटनी (Tourist Places in Katni)

रूपनाथ धाम बहोरिबंद कटनी यह स्थल पुरातत्व महत्व के साथ-साथ धर्म और आस्था का केंद्र भी है। रूपनाथ धाम (Roopnath Dham) बहुत सुंदर प्राकृतिक कुण्ड में भरा पानी और बाजू में स्थित एक प्राकृतिक गुफा में विराजमान भगवान भोलेनाथ शिव शंकर का धाम है।

RoopnathTemple Bahoriband Katni
RoopnathTemple Bahoriband Katni

चारों ओर मौजूद प्राकृतिक चट्टानों के बीच ऊंचाई से गिरता हुआ पानी का झरना मन को मोह लेता है। यह बहुत ही पवित्र स्थल के साथ ही सम्राट अशोक का ऐतिहासिक एक शिलालेख भी यहां मौजूद है। प्रक्रति की गोद में बसा रूपनाथधाम में कई जिलों से लोग पहुंचते हैं। यह एक अद्भुत द्रश्यो से परिपूर्ण एक मनभावक पर्यटक क्षेत्र है। और पढ़ें…

जैन तीर्थ स्थल बहोरिबंद (Tourist Places in Katni)

जैन तीर्थ स्थल, जैन तीर्थंकर श्री दिगंबर जैन अतिशय क्षेत्र बहोरिबंद। जैन धर्म के 16वें तीर्थंकर भगवान शांतिनाथ की 16 फीट ऊंची एवं लगभग 12वीं शताव्दी के समय अति प्राचीन प्रतिमा है। मूर्ति के पास ही शिलालेख भी मौजूद हैं। पुरातत्व विशेषज्ञों का मानना हैं की बहोरीबंद का जैन मंदिर गुप्तकालीन कलाकृतियों के समकक्ष का है। यहाँ पर जैन धर्म के आस्था का केन्द्र हैं और यहाँ पर जैन संतों के साथ ही बड़ी संख्या में लोग भगवान शांतिनाथ के दर्शन और पूजन करने आतें हैं। और पढ़ें…

पुष्पावती नगरी बिलहरी (Tourist Places in Katni)

बिलहरी जिसका प्राचीन समय का नाम पुष्पावती नगरी था । कटनी का गाँव बिलहरी जो आज भी 85 मंदिरों के समूह और 13 बावड़ियों से घिरा हुआ है। कटनी से 15 किलोमीटर की दूरी पर स्थित पुष्पावती नगरी बिलहरी स्थान 945 ई. के इतिहास को अपने में संजोए हुए है।
प्रतिदिन स्वर्ण दान करने वाले दानवीर राजा कर्ण चंडी देवी मंदिर से स्थान जुड़ा हुआ है। यहाँ का किला लक्ष्मण सागर तालाब भी बेहद खूबसूरत है।
यहाँ पर आपकों प्राचीन विशाल मंदिरों के अलावा पुराने किले के अवशेष, तरनतारन मंदिर, रानी की सिंगार चौरी, 10वीं सदी के अभिलेख, तापसी मठ, पुरातत्व संग्रहालय, गया कुंड, काल भैरव मंदिर,बावली, नौ देवियों मंदिर, आदि भी मौजूद हैं। और पढ़ें…

विष्णु वराह मंदिर विजयराघवगढ़ कटनी (Tourist Places in Katni)

विष्णु वराह मंदिर एक बड़ा पुरातात्विक स्थल है। और पढ़ें…

पूछे जाने वाले प्रश्न

क्या कटनी पर्यटकों के लिए सुरक्षित है?

हाँ, कटनी पर्यटकों के लिए एक सुरक्षित स्थान है। शहर में मैत्रीपूर्ण और स्वागत योग्य वातावरण है, जो इसे घूमने के लिए एक सुखद स्थान बनाता है।

कटनी जाने का सबसे अच्छा समय कब है?

कटनी की यात्रा का सबसे अच्छा समय अक्टूबर से फरवरी तक सर्दियों के महीनों के दौरान होता है, जब मौसम दर्शनीय स्थलों की यात्रा और मंदिर के दौरे के लिए सुखद होता है।

क्या मंदिरों के पास आवास के कोई विकल्प हैं?

हां, कटनी में आवास के कई विकल्प उपलब्ध हैं, जिनमें बजट होटल से लेकर अधिक शानदार रिसॉर्ट तक शामिल हैं, जो सभी प्रकार के यात्रियों की जरूरतों को पूरा करते हैं।

क्या मंदिर बुजुर्ग आगंतुकों के लिए सुलभ हैं?

हालाँकि कुछ मंदिरों में सीढ़ियों पर चढ़ने की आवश्यकता हो सकती है, लेकिन बुजुर्ग आगंतुकों की सुविधा के लिए व्यवस्था की जाती है। रेलिंग और विश्राम क्षेत्र अक्सर उपलब्ध होते हैं।

क्या गैर-हिन्दू कटनी में मंदिरों में जा सकते हैं?

हां, सभी धर्मों के लोगों का कटनी के मंदिरों में जाने और उनके द्वारा प्रदान की जाने वाली आध्यात्मिक और सांस्कृतिक विरासत का अनुभव करने के लिए स्वागत है।

error: Content is protected !!
Scroll to Top
Andaman Honeymoon Trip : अंडमान-निकोबार द्वीप के समुद्री तट Andaman Islands : घूमने का खास आनंद ले Andaman Vs Maldives : मालदीव से कितना सुंदर है अंडमान-निकोबार Andaman & Nicobar Travel Guide : पानी की लहरों का मजेदार सफ़र Andaman and Nicobar Islands Trip : मालदीव से भी ज्यादा खूबसूरत है अंडमान-निकोबार