Shivpuri Madhya Pradesh

2024 Most Beautiful City Shivpuri | में शिवपुरी में घूमने के लिए 10 बेहतरीन जगहें

5/5 - (1 vote)

Shivpuri : शिवपुरी मध्यप्रदेश के पवित्र स्थानों और प्राचीन नगरों में से एक हैं जो प्राकृतिक सौंदर्य और ऐतिहासिक धरोहर से भरा हुआ शहरहै। अपनी गौरवशाली ऐतिहासिक विरासत और प्राकृतिक सौंदर्य के लिए मशहूर, यहाँ की मिट्टी राजा-महाराजाओं की वीरतापूर्ण कहानियों से भरी हुई है। इसका पुराना नाम सिपरी था, जो किसी समय सिंधिया शासकों की ग्रीष्मकालीन राजधानी हुआ करती थी। हिन्दू पौराणिक ग्रंथों के अनुसार माना जाता हैं, इस शहर का यह नाम भगवान् शिव के नाम पर रखा गया, क्योंकि यह शहर भागवान शिव का पुर जिसे शहर कहतें है, हुआ करता था।

शिवपुरी की भूमि ने भारतीय स्वतंत्रता संग्राम के के समय भी अपना योगदान दिया है। 1859 में, यहाँ ही तात्या टोपे को फाँसी दी गई थी, जिनकी वीरता ने देश को एक महान प्रेरणा ऐतिहासिक विरासत प्रदान किया। यहाँ पर बहुत ही घाना जंगल हैं, एक समय पर शाही शिकार के मैदान हुआ करते थे। यहाँ का प्राकृतिक सौंदर्य बिलकुल एक पैण्टिंग की तरह है। साथ ही शिवपुरी घुमने की महत्वपूर्ण जगहों में माधव नेशनल पार्क जिले के प्रमुख पर्यटन स्थल हैं और शिवपुरी में तीन झीलें (चंदपाठा झील, जाधव शामिल, सागर झील) हैं, जिस कारण आज मध्य प्रदेश के प्रमुख पर्यटन स्थलों में गिना जाता है।

शिवपुरी जिला मध्य प्रदेश का एक महत्वपूर्ण पर्यटन स्थलों में एक है। शिवपुरी जिले में दो मुख्य मार्ग गुजरतें हैं जो NH-3 और NH-25 हैं जिसके कारण ग्वालियर और झांसी के साथ शिवपुरी जिले का अच्छी कनेक्टिविटी होने के कारण इस शहर में पर्यटकों के लिए आना आसान हो जाता हैं।

भूतनाथ से रूपनाथ कैसे बने भगमान शिव शंकर

शिवपुरी के आसपास के वहुत से महत्वपूर्ण पर्यटक स्थल

  • माधव नेशनल पार्क,
  • ओरछा,
  • चंदेरी
  • छत्री,
  • जॉर्ज कैसल
  • जाधव सागर झील
  • चांदपाटा झील
  • माधव विलास महल,
  • माधव सागर झील,
  • बाणगंगा,
  • पनिहार,
  • करेरा पक्षी अभयारण्य,
  • साख्य सागर झील,
  • भदैया कुण्ड,

माधव नेशनल पार्क (Shivpuri)

माधव राष्ट्रीय उद्यान ( माधव नेशनल पार्क) शिवपुरी शहर के पास स्थित है, जो विंध्य पहाड़ियों का हिस्सा है। माधव नेशनल पार्क पहले ग्वालियर के महाराजाओं और मुगल बादशाहों का शिकारगाह था। इस पार्क को सन 1958 में राष्ट्रीय उद्यान का दर्जा मिला। पार्क के लिए मुख्य दो प्रवेश मार्ग हैं।

Madhav National Park Tiger Reserve

पहला मार्ग NH-25 जो झाँसी रोड पर स्थित है, जो शिवपुरी शहर से लगभग 5 किमी दूर है, जबकि दूसरा मार्ग NH-3 आगरा-मुंबई रोड पर शिवपुरी से ग्वालियर की ओर 7 किमी की दूरी पर स्थित है। पार्क के अन्दर झीलों, जंगलों और घास के मैदानों से युक्त एक विविध पारिस्थितिकी तंत्र मौजूद हैं जो प्रकृति के अनुपम उपहार में हमें मिला है।

पार्क के अंदर में नीलगाय, चिंकारा और चौसिंगा और हिरण जैसे चीतल, सांभर और मृग रहते हैं। साथ ही तेंदुए, भेड़िया, सियार, लोमड़ी, जंगली कुत्ता, जंगली सुअर, साही, अजगर आदि जानवर भी आपकों पार्क के अंदर देखने को मिल जायेंगे। और पढ़ें…

ओरछा

ऐतिहासिक शहर ओरछा मध्य प्रदेश के निवाड़ी ज़िले में स्थित एक है । इसकी स्थापना 16वीं शताब्दी में बुंदेला राजपूत प्रमुख रुद्र प्रताप सिंह ने की थी। ओरछा, बुंदेलखंड क्षेत्र में बेतवा नदी के किनारे बसा हुआ है।
ओरछा में स्थित भगवान श्रीराम का मंदिर, पूरे देश में एकमात्र ऐसा मंदिर है। यहां भगवान राम को भगवान और राजा, दोनों रूपों में पूजा जाता है।
ऐतिहासिक तथ्यों के मुताबिक, ओरछा के बुंदेला शासक मधुकरशाह की महारानी कुंवरि गणेश, अयोध्या से भगवान राम को ओरछा ले आई थीं। पौराणिक कथाओं के मुताबिक, ओरछा के शासक मधुकरशाह कृष्ण भक्त थे, जबकि उनकी महारानी कुंवरि गणेश, राम उपासक थीं। और पढ़ें…

Orchha Niwari
Orchha Niwari

चंदेरी

और पढ़ें…

Chanderi
Chanderi

छत्री

और पढ़ें…

Chhatri Shivpuri Madhya
Chhatri Shivpuri Madhya

शिवपुरी को सुशोभित करती छत्री, वहुत ही सुंदर और जटिल रूप से अलंकृत संग मरमर से निर्मित छत्रियों के लिए प्रसिद्ध है शिवपुरी। सिंधिया शासकों द्वारा निर्मित है शिवपुरी की सुन्दर छत्री। छत्रियाँ एक विस्तृत श्रंखला में मुगल गार्डन में स्थापित हैं।

शिवपुरी की छत्री सिंधिया शासकों को समर्पित हैं। इनमें से एक छत्री जो माधव राव सिंधिया की है और दूसरी छत्री उनकी मां महारानी सख्या राजे सिंधिया की। छत्रियां मुगल मंडप के साथ हिंदू और इस्लामी वास्तुकला शैलियों का शानदार संलयन का नमूना हैं। और पढ़ें…

Chhatri Shivpuri
Chhatri Shivpuri

जॉर्ज कैसल

शिवपुरी जिले में माधव नेशनल पार्क के अंदर मन को मोह लेने वाला जॉर्ज कैसल बना हुआ है।जॉर्ज कैसल महल का निर्माण सन 1911 में ग्वालियर के तत्कालीन सिंधिया राजा द्वारा इंग्लैंड के किंग जॉर्ज पंचम के लिए एक रात रुकने के लिए बनाया गया था। जो भारत में बाघों के शिकार के लिए और जंगल की यात्रा करने यहाँ आये थे। और पढ़ें…

George Castle Shivpuri
George Castle Shivpuri

जाधव सागर झील

और पढ़ें…

चांदपाटा झील

और पढ़ें…

माधव सागर झील

Madhav Sagar Jheel Shivpuri
Madhav Sagar Jheel Shivpuri

और पढ़ें…

error: Content is protected !!
Scroll to Top
Andaman Honeymoon Trip : अंडमान-निकोबार द्वीप के समुद्री तट Andaman Islands : घूमने का खास आनंद ले Andaman Vs Maldives : मालदीव से कितना सुंदर है अंडमान-निकोबार Andaman & Nicobar Travel Guide : पानी की लहरों का मजेदार सफ़र Andaman and Nicobar Islands Trip : मालदीव से भी ज्यादा खूबसूरत है अंडमान-निकोबार