Rajgarh district

Rajgarh : राजगढ़ जिला क्यों प्रसिद्ध है?

5/5 - (1 vote)

Rajgarh Madhya Pradesh : राजगढ़ मध्य प्रदेश राज्य का एक शहर है, जो राज्य के उत्तरी भाग में स्थित है। यह राजगढ़ जिले का प्रशासनिक मुख्यालय है। इस शहर का एक समृद्ध इतिहास और संस्कृति है, जिसमें कई ऐतिहासिक स्थल और मंदिर हैं। हरे-भरे जंगलों, झरनों और प्राकृतिक परिदृश्य के साथ राजगढ़ अपनी प्राकृतिक सुंदरता के लिए भी प्रसिद्ध है।

पर्यटकों के आकर्षण:

कर्ण मठ मंदिर: यह भगवान शिव को समर्पित एक प्राचीन मंदिर है और शहर के मध्य में स्थित है। ऐसा कहा जाता है कि मंदिर कछवाहा वंश के शासनकाल के दौरान बनाया गया था और इसकी एक सुंदर वास्तुकला है।

ब्यावरा तालाब: यह राजगढ़ के ब्यावरा क्षेत्र में स्थित एक सुरम्य झील है। पिकनिक और बोटिंग के लिए यह एक लोकप्रिय स्थान है।

पचोर किला: यह एक प्राचीन किला है जो राजगढ़ से लगभग 25 किमी दूर पचोर गांव के पास एक पहाड़ी की चोटी पर स्थित है। किले का निर्माण 14वीं शताब्दी के दौरान पचोर शासकों द्वारा किया गया था और आसपास के ग्रामीण इलाकों का मनोरम दृश्य प्रस्तुत करता है।

बड़ा मंदिर: यह शहर के मध्य में स्थित एक सुंदर मंदिर है। यह भगवान विष्णु को समर्पित है और अपनी जटिल नक्काशी और वास्तुकला के लिए जाना जाता है।

किशनपुरा बांध: राजगढ़ से लगभग 10 किमी दूर स्थित यह एक लोकप्रिय पिकनिक स्थल है। बांध आसपास की पहाड़ियों का सुंदर दृश्य प्रस्तुत करता है और मछली पकड़ने और नौका विहार के लिए एक शानदार जगह है।

शिकारगंज वन्यजीव अभयारण्य: राजगढ़ से लगभग 45 किमी दूर स्थित यह एक लोकप्रिय वन्यजीव अभयारण्य है। अभयारण्य बाघों, तेंदुओं, जंगली सूअरों और पक्षियों की कई प्रजातियों सहित विभिन्न प्रकार की वनस्पतियों और जीवों का घर है।

हज़रत शेख बदरुद्दीन की दरगाह: यह राजगढ़ शहर में स्थित एक प्रसिद्ध मुस्लिम दरगाह है। यह मुसलमानों के लिए एक लोकप्रिय तीर्थ स्थल है और अपनी सुंदर वास्तुकला और शांतिपूर्ण परिवेश के लिए जाना जाता है।

चाचौड़ा: चाचौड़ा राजगढ़ से लगभग 25 किमी दूर स्थित एक छोटा सा शहर है। यह अपने खूबसूरत मंदिरों और प्राकृतिक परिदृश्य के लिए जाना जाता है।

रतनपुर किला: राजगढ़ से लगभग 10 किमी की दूरी पर स्थित यह एक प्राचीन किला है। यह किला पचोर शासकों द्वारा बनाया गया था और यह अपनी सुंदर वास्तुकला और ऐतिहासिक महत्व के लिए जाना जाता है।

हिंगलाजगढ़ किला: यह राजगढ़ से लगभग 60 किलोमीटर की दूरी पर स्थित एक प्राचीन किला है। किला 6वीं शताब्दी के दौरान बनाया गया था और यह अपनी सुंदर वास्तुकला और ऐतिहासिक महत्व के लिए जाना जाता है।

गतिविधियाँ:

वन्यजीव सफारी: आगंतुक शिकारगंज वन्यजीव अभयारण्य में वन्यजीव सफारी का आनंद ले सकते हैं और विभिन्न प्रकार की वन्यजीव प्रजातियों को देख सकते हैं।

ट्रेकिंग: पर्यटक आसपास की पहाड़ियों और जंगलों में ट्रेकिंग का आनंद ले सकते हैं।

बोटिंग: पर्यटक ब्यावरा तालाब और किशनपुरा डैम में बोटिंग का लुत्फ उठा सकते हैं।

मंदिर के दर्शन: आगंतुक शहर और आसपास के क्षेत्रों में विभिन्न मंदिरों के दर्शन कर सकते हैं।

फोटोग्राफी: आगंतुक फोटोग्राफी के माध्यम से शहर और आसपास के क्षेत्रों की प्राकृतिक सुंदरता को कैद कर सकते हैं।

यात्रा करने का सबसे अच्छा समय:

राजगढ़ घूमने का सबसे अच्छा समय अक्टूबर से मार्च के बीच का है, जब मौसम खुशनुमा और आरामदायक होता है।

पहुँचने के लिए कैसे करें:

वायु द्वारा: निकटतम हवाई अड्डा भोपाल में है, जो राजगढ़ से लगभग 140 किमी दूर है।

रेल द्वारा: राजगढ़ का अपना रेलवे स्टेशन है, जो देश के प्रमुख शहरों से अच्छी तरह से जुड़ा हुआ है।

सड़क मार्ग द्वारा: राजगढ़ मध्य प्रदेश के अन्य शहरों और पड़ोसी राज्यों से सड़क मार्ग से अच्छी तरह से जुड़ा हुआ है।

राजगढ़ जिला मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल संभाग में आता है। राजगढ़ जिला मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल से लगभग 85 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। राजगढ़ जिला मैं घूमने के लिए बहुत ही सुंदर सुंदर पर्यटक स्थल मौजूद है।

जैसे नरसिंहगढ़ का किला मान्यता गढ़ का किला पशुपतिनाथ मंदिर मां जालपा माता मंदिर नरसिंहगढ़ वन्य जीव अभ्यारण तिरुपति बालाजी मंदिर राजगढ़ का कुंडलिया बांध राजगढ़ को पर्यटन की दृष्टि से बहुत ही सुंदर पर्यटक जिलों में शुमार करता है। हम आज इस ब्लॉग के माध्यम से राजगढ़ के सुंदर पर्यटन स्थलों के बारे में आपको जानकारी प्रदान करेगें।

राजगढ़ का किला ऐतिहासिक किला है और इस किले के नाम पर ही राजगढ़ जिला का नामकरण हुआ। खंडार में बदलता जा रहा है, इसके बावजूद भी यह बहुत ही सुंदर दिखता है। इस किले के बाजू से नवाज नदी निकलती है जो महल से देखने में बहुत ही सुंदर नजारा प्रस्तुत करती है।

आप जब भी इसके लिए को देखने जाएं तो एक बार नेवा नदी के तट से किले को देखें इतना सुंदर नजारा होता है। अगर आप राजगढ़ घूमने आए तो इस दृश्य को देखकर आपका घूमने का उद्देश्य पूरा हो जाता है।

Table of Contents

Shrinathji’s big temple Rajgarh : श्रीनाथजी का बडा मंदिर राजगढ़

श्रीनाथ जी का बड़ा मंदिर
प्राचीन स्थापत्य कला एवं भव्यता का प्रतीक प्रसिद्ध श्रीनाथ जी का मंदिर राजगढ़ नेवज नदी के तट पर सुंदर पहाड़ियों के बीच बड़ा मंदिर स्थित है। या मंदिर नदी के तट पर स्थित होने से वर्षा ऋतु में जल मग्न हो जाता है। सूर्यास्त के समय मंदिर का दृश्य रोमांचक हो जाता है। इस मंदिर का कबूतरों का झुंड बहुत ही प्रसिद्ध है।

Mohanpura Dam Rajgarh : मोहनपुरा डैम राजगढ़

मोहनपुरा बांध राजगढ़, आप राजगढ़ आए और मोहनपुरा डैम नहीं देखे तो आपका राजगढ़ आने अधूरा सा रह जाएगा। मोहनपुरा डैम नेवाज नदी पर बना हुआ राजगढ़ का एक प्रमुख पर्यटन स्थल भी है। आप जब इस डैम का दृश्य देखेंगे तो आपको दूर तक पानी से भरा सुंदर जलाशय देखने को मिलेगा।

मोहनपुरा डैम में 17 गेट हैं। बरसात के समय यह बांध पानी से पूरी तरह घर जाने के बाद सभी गेट खोले जाते हैं तब इसका दृश्य बहुत सुंदर लगता है। बरसात के समय यहां पर घूमने के लिए बहुत ज्यादा पर्यटक आते हैं।

Dargah Sharif Rajgarh : दरगाह शरीफ़ राजगढ़

Ghurel Pashupatinath Temple Biaora : घुरेल पशुपतिनाथ मंदिर ब्यावरा

Anjanilal Temple Biaora : अंजनीलाल मंदिर ब्यावरा

अंजनी लाल मंदिर राजगढ़, जो अंजनी लाल मंदिर भगवान शिव को समर्पित है। यह मंदिर राजगढ़ के प्रसिद्ध मंदिरों में से एक है, जहां पर भगवान शिव शंकर जी का सुंदर शिवलिंग के दर्शन मिलते हैं। यह मंदिर बहुत सुंदर है और मंदिर के ऊपर एक विशाल शिवलिंग देखने को मिलेगा। यह मंदिर देखने के लिए आपको राजगढ़ जिले के ब्यावरा तहसील मर जाना होगा।

यह मंदिर अंजनी नदी के किनारे बना हुआ है। इस मंदिर के आस-पास बहुत शांत वातावरण है आप यहां घूमने के लिए भी आ सकते हैं और साथ ही यहां पर धर्मशाला बनी हुई है जहां पर आप धर्मशाला में ठहर भी सकते हैं।

Vishnodevi Temple Suthalia-Biaora: वेष्णोदेवी मंदिर सुठालिया-ब्यावरा

Shani Mandir Khilchipur: शनि मंदिर खिलचीपुर

यहां पर भगवान शनि देव जी का प्राचीन मंदिर गढ़ गंगा नदी के किनारे खिलचीपुर राजगढ़ मैं स्थित है। इस प्राचीन मंदिर के गर्भ गृह में भगवान शनि देव जी की मूर्ति विराजमान है। साथ ही इस मंदिर के आस पास बहुत सारे मंदिर बने हुए हैं जो बहुत प्रसिद्ध हैं। यहीं पर हनुमान जी का मंदिर भी देखने को मिलता है, इस मंदिर को दिग्विजय हनुमान के नाम से जाना जाता है।

साथ ही यहां पर नारहा मंदिरों का समूह भी देखने को मिलता है जिसमें मां भगवती माता की बहुत सुंदर प्रतिमा को स्थापना की गई है। साथ ही यहां पर भगवान विश्वकर्मा जी का भी एक मंदिर आपको देखने को मिलेगा यह जगह बहुत ही शांतिपूर्ण और घूमने साथ ही यहां पर भगवान विश्वकर्मा जी का भी एक मंदिर आपको देखने को मिलेगा यह जगह बहुत ही शांतिपूर्ण और घूमने के हिसाब से बहुत अच्छी है।

खिलचीपुर का राज महल राजगढ़

खिलचीपुर का राज महल जो बहुत प्राचीन है उसे खिलचीपुर के किला के नाम से भी जाना जाता है। यह महाराजा प्रियव्रत सिंह के द्वारा बनवाया गया महल है। यह किला गढ़ गंगा नदी के किनारे बना हुआ है। यह किला सतमी शताब्दी में बनाया गया था। कहा जाता है खिलचीपुर प्राचीन समय में एक बहुत प्रसिद्ध और वैभवशाली नगर हुआ करता था।
प्राचीन शनि देव जी का मंदिर राजगढ़

Kapileshwar Mahadev Temple-Sarangpur :कपिलेश्वर महादेव मंदिर-सारंगपुर

Bheswamata Temple -Sarangpur: भेसवामाता मंदिर -सारंगपुर

Tirupati Balaji Temple Zirapur: तिरुपति बालाजी मंदिर जीरापुर

तिरुपति बालाजी मंदिर राजगढ़
तिरुपति बालाजी का एक प्रसिद्ध मंदिर राजगढ़ जिले की जीरापुर में स्थित है। इस मंदिर में भगवान तिरुपति जी के दर्शन करने आपको मिल जाएंगे , साथ ही इस मंदिर के पास एक धर्मशाला बनी हुई है।

Kundalia Dam Zirapur: कुण्डालिया डेम जीरापुर

कुंडालिया बांध राजगढ़
राजगढ़ जिले के सुंदर बांधों में से एक बांध कुंडलिया बांध भी है। यह बांध कालीसिंध नदी पर बना हुआ है। यह बांध राजगढ़ जिले की जीरापुर तहसील नलखेड़ा के अंतर्गत आता है। इस बांध में कुल 11 गेट हैं।

Narsinghgarh City: नरसिंहगढ़ शहर

नरसिंहगढ़ राजगढ़
नरसिंहगढ़ राजगढ़ जिले की तहसील है जो भोपाल से करीब 100 किलोमीटर दूर भोपाल राजगढ़ राजमार्ग पर स्थित है। यह घूमने फिरने के हिसाब से बहुत अच्छी जगह है, यहां पर बहुत सारे प्राकृतिक ऐतिहासिक और धार्मिक जगह देखने को मिल जाएंगी।

Chidikho Sanctuary Narsinghgarh: चिड़िखो अभ्यारण नरसिंहगढ़

Shyamji Sanka Temple Narsinghgarh: श्यामजी साँका मंदिर नरसिंहगढ़

खोइरी महादेव मंदिर राजगढ़ में बहुत प्रसिद्ध मंदिर है। यह मंदिर रसूलपुरा राजगढ़ में स्थित है।

Jalpa Temple Rajgarh: जालपा मंदिर राजगढ़

जलापा देवी मंदिर राजगढ़ से खलीलपुर जाने वाले राजमार्ग पर एक ऊंची पहाड़ी पर बना हुआ राजगढ़ के प्रसिद्ध और सुंदर मंदिरों में गिना जाता है। जलापा देवी मां दुर्गा का ही एक स्वरूप है। आप इस मंदिर पर पहुंचने के लिए पहाड़ी पर कार या बाइक से जा सकते हैं क्योंकि पहाड़ी पर चढ़ने के लिए एक बहुत अच्छा मार्ग बना हुआ।

पहाड़ी वाले रास्ते में ही आपको हनुमान जी का बहुत ही सुंदर मंदिर देखने को मिलेगा। नवरात्रि के समय यहां पर भक्तों की बहुत ज्यादा भीड़ लगती है जो मां जलापा के दर्शन के लिए यहां बहुत दूर-दूर से आते हैं।

छापी बांध एवं पार्क राजगढ़

छापी बांध जीरापुर में स्थित राजगढ़ का एक प्रमुख स्थान है। यह बांध बहुत सुंदर लगता है साथ में इस बांध के पास एक पार्क भी मौजूद है। यहां के पार्क में बहुत सारे झूले लगे हुए हैं, यह पाक बहुत ही सुंदर है। यहां पर भी एक मंदिर बना हुआ जो भगवान शिव जी को समर्पित है। इस पार्क में बैठकर आप बांध के विशाल को देख सकते हैं साथ ही आप अपनी फैमिली और बच्चों के साथ पिकनिक मनाने के और घूमने के लिए आप यहां आ सकते हैं।

नरसिंहगढ़ का किला

नरसिंहगढ़ का किला राजगढ़ जिले का प्राचीन किला है जो नरसिंहगढ़ तहसील में स्थित है। यह किला बहुत बड़े क्षेत्र में बना हुआ है। यह किला सत्र में शताब्दी में नरसिंहगढ़ के राजा का निवास स्थान हुआ करता था। इस किले का निर्माण राजपूत मुगल मालवा शैली को मिलाकर बनाई गई है। 350 फिट ऊंची पहाड़ी पर यह किला बना हुआ है।

इसके लिए से नरसिंहगढ़ शहर का पूरा दृश्य देखने को मिलता है। यह किला महाराजा भानु प्रकाश सिंह का महल हुआ करता था। जब आप इसके लिए तक जाते हैं वह सर्पाकार सड़क से गुजरते हैं तो नजारे देखते ही बनते हैं। भले ही यह किला अब खंडहर में तब्दील होता जा रहा है, परन्तु

error: Content is protected !!
Scroll to Top
Andaman Honeymoon Trip : अंडमान-निकोबार द्वीप के समुद्री तट Andaman Islands : घूमने का खास आनंद ले Andaman Vs Maldives : मालदीव से कितना सुंदर है अंडमान-निकोबार Andaman & Nicobar Travel Guide : पानी की लहरों का मजेदार सफ़र Andaman and Nicobar Islands Trip : मालदीव से भी ज्यादा खूबसूरत है अंडमान-निकोबार